🔳कोसी नदी क्षेत्र में अराजक तत्वों के निशाने पर आईं मछलियां
🔳केएमवीएन विश्राम गृह के ठिक नीचे धड़ल्ले से हो रहा शिकार
🔳सुबह से शाम तक खुलेआम मारी जा रही मछलियां
🔳क्षेत्रवासियों ने उठाई अराजक तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की मांग
((( टीम तीखी नजर की रिपोर्ट)))

लंबे समय तक शांत रहने के बाद अब एक बार फिर अराजक तत्वों ने कोसी नदी क्षेत्र में सक्रियता बढ़ा दी है। अल्मोड़ा हल्द्वानी हाइवे पर स्थित केएमवीएन के विश्राम गृह के ठिक नीचे कोसी नदी क्षेत्र में अराजक तत्व धड़ल्ले से मछलियों का शिकार में जुटे हैं। रोजाना मछलियों का शिकार होने से संरक्षित रोहू प्रजाति की मछली के अस्तित्व पर भी संकट गहरा गया है। स्थानीय लोगों ने अराजक तत्वों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई किए जाने की मांग उठाई है।
अल्मोड़ा हल्द्वानी हाइवे के किनारे बहने वाली जीवनदायिनी कोसी नदी में संरक्षित प्रजाति की रोहू मछली पाई जाती है। पर अब रोहू मछली के अस्तित्व पर संकट मंडराने लगा है। हाइवे पर खैरना क्षेत्र में स्थित कुमाऊं मंडल विकास निगम के विश्राम गृह के ठिक नीचे कोसी नदी में रोहू मछली बहुतायत मात्रा में है। केएमवीएन पर्यटकों का ध्यान खींचने के लिए मछलियों को रोजाना चारा भी उपलब्ध कराता है। पर पिछले कई दिनों से लगातार मछलियों का शिकार किया जा रहा है। सुबह से शाम तक अराजक तत्व कंरट व किटनाशक से मछलियों का शिकार कर रहे हैं जिससे मछलियों का समूल नष्ट होने का खतरा भी कई गुना बढ़ता ही जा रहा है। टीआरसी खैरना के प्रबंधक पारस सत्यवली के अनुसार कई बार मना करने के बावजूद धड़ल्ले से मछलियों का शिकार किया जा है। अराजक तत्वों के हौसले इतने बुलंद होते जा रहे हैं की वो दिन दोपहर में ही मछलियों का शिकार करने में जुट जाते हैं। प्रबंधक के अनुसार लंबे समय से मछलियों का पालन किया जा रहा है पर अराजक तत्व संरक्षित प्रजाति की मछलियों को मार डाल रहे हैं। व्यापारी नेता गजेंद्र सिंह नेगी, मनीष तिवारी, विरेन्द्र सिंह, दीवान सिंह, फिरोज अहमद, पुष्कर सिंह पनौरा, संजय सिंह बिष्ट, गोविन्द सिंह, महेंद्र सिंह, विक्रम सिंह आदि ने मछलियों का शिकार करने वाले अराजक तत्वों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई किए जाने की मांग उठाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *